लिखिए अपनी भाषा में

SCROLL

FREE होम रेमेडी पूछने के लिए फ़ोन करें 09414989423 ( drjogasinghkait.blogspot.com निशुल्क - मनोरंजन हेतू ब्लोग देखे atapatesawaldrkait.blogspot.com निशुल्क - myphotographydrkait.blogspot.com ) (१)व्यक्ति पहले धन पाने के लिए सेहत बरबाद करता है ,फिर सेहत पाने के लिए धन बरबाद करता है (२)अपने आप को बीमार रखने से बढ कर कोई पाप नहीं है (३)खड़े-खड़े पानी पीने से घुटनों में दर्द की शिकायत ज़ल्दी होती है ,बैठ कर खाने- पीने से घुटनों का दर्द ठीक हो जाता है (४)भोजन के तुरंत बाद पेशाब करने की आदत बनायें तो किडनी में तकलीफ नहीं होगी (५)ज़बडा भींच कर शौच करने /पेशाब करने से हिलाते हुए दांत/दाड़ पूरी तरहां से जम जाते हैं (६)महत्त्व इस बात का नहीं की आप कितना ऊँचा उठे हैं (तरक्की की ),महत्त्व इस बात का है की आपने कितने लोगों की तरक्की में हाथ बटाया(7)होम रेमेडी और भी हैं ,ब्लॉग विजिट करते रहें मिलते है एक छोटे से ब्रेक के बाद

कुल पेज दृश्य

मेरे बारे में

समर्थक

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

FLAG COUNTER

free counters

मंगलवार, 22 मार्च 2011

ATAPATE SAWAL

(१)जोगी जी ,मेरा बेटा अपने बाल
 नहीं कटवाता ,इसका क्या करूं ?
   -शादी ,कोई तो लड़का पसंद कर

 ही लेगा
(२)आज किसी ने मेरी जेब काट

ली क्या करूँ ?
   -दर्जी से नयी लगवा लो जी
(३)सर, मेरा दूध पूरी सर्दी ,मेरी

डबलरोटी पीती रही  क्या करूँ ?
   -पहले ये बतायो आप कब से

दूध देने लगे हो ?
(४)मेरा प्रेमी मुझ से प्यार नहीं

करता ,क्या करूँ ?
   -आप से ना सही किसी और

से तो करता ही होगा ना
(५) पप्पू के गणित में सिर्फ

५ नम्बर क्यों आये ?
    -क्योकि ९५ नम्बर तो सामने

 वालो की लड़की ले गयी
(६)जोगा जी ,मैंने पापा से हन्क

मोटर साईकिल मांगी थी ,फिर
राजदूत क्यों दिलाई ?
    -दूध बेचने के लिए ,पास होता

तो हन्क मोटर साईकिल मिलती
(७)लिक़ुएदेतर से मछर क्यों नहीं

मरते ?
    -कंपनियों  को मरने से बचने के लिए
(८)जोगा सिंह जी,हमारे देश में सबसे

ज्यादा बंदर कहाँ पाए जाते हैं?
    -बंदरगाहों में पाए जाते हैं 
(९)मानों आप गेट ,खिड़की बंद करके

 सो रहें है, घंटी  बजने पर आप सबसे
 पहले क्या खोलेंगे ?
   -अपनी आँखें खोलूँगा
(१०)जोगी जी राम-राम में क्या अंतर है ,

दो बार क्यों बोलते है ?
     -एकबार अपने लिए,

 दूसरी बार दुसरे के लिए 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें