लिखिए अपनी भाषा में

SCROLL

FREE होम रेमेडी पूछने के लिए फ़ोन करें 09414989423 ( drjogasinghkait.blogspot.com निशुल्क - मनोरंजन हेतू ब्लोग देखे atapatesawaldrkait.blogspot.com निशुल्क - myphotographydrkait.blogspot.com ) (१)व्यक्ति पहले धन पाने के लिए सेहत बरबाद करता है ,फिर सेहत पाने के लिए धन बरबाद करता है (२)अपने आप को बीमार रखने से बढ कर कोई पाप नहीं है (३)खड़े-खड़े पानी पीने से घुटनों में दर्द की शिकायत ज़ल्दी होती है ,बैठ कर खाने- पीने से घुटनों का दर्द ठीक हो जाता है (४)भोजन के तुरंत बाद पेशाब करने की आदत बनायें तो किडनी में तकलीफ नहीं होगी (५)ज़बडा भींच कर शौच करने /पेशाब करने से हिलाते हुए दांत/दाड़ पूरी तरहां से जम जाते हैं (६)महत्त्व इस बात का नहीं की आप कितना ऊँचा उठे हैं (तरक्की की ),महत्त्व इस बात का है की आपने कितने लोगों की तरक्की में हाथ बटाया(7)होम रेमेडी और भी हैं ,ब्लॉग विजिट करते रहें मिलते है एक छोटे से ब्रेक के बाद

कुल पेज दृश्य

मेरे बारे में

समर्थक

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

FLAG COUNTER

free counters

बुधवार, 18 मई 2011

COMMENT


Original Post
Bhupat Shoot
Bhupat Shoot10:40pm May 17
हम रोज स्नान करतें हें, खूब पानी उपयोग करतें हें। फिर कूलर व एसी में ---जरा हम सोचें जितना पानी बाहरी स्नान करने के लिए काम लिया उसका २०व हिस्सा पानी ओर पी लेते तथा शरीर के अंदर से क्षर्म द्वारा बाहर निकालते। हम क्या आनंद, स्वास्थ्य व आराम का अनुभव करते । हमने उत्पादक शारीरिक क्षर्म छोड़ दिया । हम सोचते हें क्षर्म द्वारा शरीर से बदबू आएगी, सेंट व स्प्रे भी लगातें हें। बाहरी पर्दुषण व बदबू मजबूरी मानके चलतें हें।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें