लिखिए अपनी भाषा में

SCROLL

FREE होम रेमेडी पूछने के लिए फ़ोन करें 09414989423 ( drjogasinghkait.blogspot.com निशुल्क - मनोरंजन हेतू ब्लोग देखे atapatesawaldrkait.blogspot.com निशुल्क - myphotographydrkait.blogspot.com ) (१)व्यक्ति पहले धन पाने के लिए सेहत बरबाद करता है ,फिर सेहत पाने के लिए धन बरबाद करता है (२)अपने आप को बीमार रखने से बढ कर कोई पाप नहीं है (३)खड़े-खड़े पानी पीने से घुटनों में दर्द की शिकायत ज़ल्दी होती है ,बैठ कर खाने- पीने से घुटनों का दर्द ठीक हो जाता है (४)भोजन के तुरंत बाद पेशाब करने की आदत बनायें तो किडनी में तकलीफ नहीं होगी (५)ज़बडा भींच कर शौच करने /पेशाब करने से हिलाते हुए दांत/दाड़ पूरी तरहां से जम जाते हैं (६)महत्त्व इस बात का नहीं की आप कितना ऊँचा उठे हैं (तरक्की की ),महत्त्व इस बात का है की आपने कितने लोगों की तरक्की में हाथ बटाया(7)होम रेमेडी और भी हैं ,ब्लॉग विजिट करते रहें मिलते है एक छोटे से ब्रेक के बाद

कुल पेज दृश्य

मेरे बारे में

समर्थक

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

FLAG COUNTER

free counters

मंगलवार, 19 जुलाई 2011

HOME REMEDY(sugar)

सुगर की बीमारी





 दुनियां भर में इस रोग के बारे में कहा जा रहा है कि ये ला-इलाज बीमारी है,
आने वाले दिनों में भारत सुगर की विश्व प्रसिद्ध राजधानी बनने वाला है,
अनगिनत डॉ. इसके शोध में लगें हैं लोगों को आरोग्य लाभ देने लेकिन 
सफलता दूर होती नज़र आरही है शायद ऐसी लिए एसा कहा जा रहा हो.
फिर भी निराश  होने कि ज़रुरत नहीं प्रयास किये ही जाने चाहिए .
इसी  क्रम में एक छोटा सा लाभकारी उपाय जनहित में बताने जा रहा हूँ .
जो कई लोगों को आरोग्य लाभ दे चुका है ,लाभ उठाये,दूसरों को भी बताये .
(१)गुडमार बूटी १०० ग्राम,
(२)अश्वगंधा १०० ग्राम,
(३)कैर (डेले) १०० ग्राम,
(४)शतावरी १०० ग्राम,
(५)मेथीदाना १०० ग्राम,
(६)करेला पावडर १०० ग्राम ,
(७)जामुन गुठली १०० ग्राम,
(८)शिलाजीत असली ५० ग्राम
 (९)ग्वारगम २०० ग्राम
 इन सबका चूरन बनायें .
सेवन--
भोजन के बाद १-१ चम्मच गर्म दूध से सुबह-शाम सेवन करें.
सेवन अवधि दो वर्ष है.
यदि किसी प्रकार की अन्य अंगरेजी दवा ले रहें हैं तो उसे भी ज़ारी रखें ,
ये अंगरेजी दवाईयां कुछ महीने बाद अपने आप छूटने लग जाएँगी या
 उनकी मात्रा कम होने लग जाएगी .
परहेज़-
गेहूं.चना ,जौँ इन तीनों को भून कर पीस लें इसी आटे की रोटी बना कर 
सेवन करें .भोजन करने के बाद २-३ ग्राम गुड मुंह में रखकर चूसना या 
२-३ ग्राम शहद का सेवन लाभकारी रहता है .मिठाई,
मीठे से परहेज़ भी लाभकारी रहता है.

1 टिप्पणी: