लिखिए अपनी भाषा में

SCROLL

FREE होम रेमेडी पूछने के लिए फ़ोन करें 09414989423 ( drjogasinghkait.blogspot.com निशुल्क - मनोरंजन हेतू ब्लोग देखे atapatesawaldrkait.blogspot.com निशुल्क - myphotographydrkait.blogspot.com ) (१)व्यक्ति पहले धन पाने के लिए सेहत बरबाद करता है ,फिर सेहत पाने के लिए धन बरबाद करता है (२)अपने आप को बीमार रखने से बढ कर कोई पाप नहीं है (३)खड़े-खड़े पानी पीने से घुटनों में दर्द की शिकायत ज़ल्दी होती है ,बैठ कर खाने- पीने से घुटनों का दर्द ठीक हो जाता है (४)भोजन के तुरंत बाद पेशाब करने की आदत बनायें तो किडनी में तकलीफ नहीं होगी (५)ज़बडा भींच कर शौच करने /पेशाब करने से हिलाते हुए दांत/दाड़ पूरी तरहां से जम जाते हैं (६)महत्त्व इस बात का नहीं की आप कितना ऊँचा उठे हैं (तरक्की की ),महत्त्व इस बात का है की आपने कितने लोगों की तरक्की में हाथ बटाया(7)होम रेमेडी और भी हैं ,ब्लॉग विजिट करते रहें मिलते है एक छोटे से ब्रेक के बाद

कुल पेज दृश्य

मेरे बारे में

समर्थक

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

FLAG COUNTER

free counters

गुरुवार, 3 नवंबर 2011

सरस्वती शिक्षण सदन महिला प्रशिक्षण महाविदयालय (रिको)श्री गंगा नगर में डॉ.जोगा सिंह कैत "जोगी" द्वारा निशुल्क सेमिनार का आयोजन किया गया .


सरस्वती शिक्षण सदन महिला प्रशिक्षण महाविदयालय (रिको)श्री गंगा नगर  में डॉ.जोगा सिंह कैत "जोगी" द्वारा निशुल्क सेमिनार का आयोजन किया गया .
०२ -११ -२०११ को सरस्वती शिक्षण सदन महिला प्रशिक्षण महाविदयालय (रिको)श्री गंगा नगर  में डॉ.जोगा सिंह कै "जोगी" द्वारा निशुल्क सेमिनार का आयोजन किया गया .प्राचार्य श्री रोशन वर्मा ने डॉ.जोग सिंह का परिचय छात्रयों से करवाया श्री देवेंदर रोकना (दूरदर्शन-सूरतगढ़)भी उपस्थित रहे . डॉ.जोगा सिंह कै "जोगी" द्वारा  बच्चों को बताया गया कि हम बीमार कैसे होते हैं,बीमार होने से बचें कैसे ,बीमार होने पर होम रेमेडी से हम जल्दी कैसे ठीक हो सकते हैं .प्राकृतिक शरीर का प्राकृतिक उपचार करने से हमारा शरीर लम्बे समय तक कैसे ठीक रह सकता है.
बच्चों व टीचरस  ने बड़े आनंद से सेमिनार को सुना व बताई गयी होम रेमेडी को नोट भी किया .
इस अवसर पर डॉ.जोगा सिंह ने कन्या भ्रूण हत्या को रोकने कि अपील की,रक्त दान करना,नेत्रदान करना ,समाज के लिए लाभकारी बताया .
प्राक्रतिक शरीर की रक्षा के लिए ,प्रक्रति की रक्षा करना अनिवार्य बताया .
इस अवसर प्रबंधक श्री बलराज जाखड ने धन्यवाद् ज्ञापित किया और  डॉ.जोगा सिंह को स्मृति चिन्ह ,व प्रसस्ती -पत्र  दे कर सम्मानित किया 
सेमिनार के चित्र 























कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें